Chand Par Kon Kon Gaya Hai! चांद पर कोन–कोन गया है?

दोस्तो जैसे कि आप साबको पता है कि चांद हमारी धरती का एक छोटा सा उपग्रह है । हमारी धरती का  एक मात्र प्राकृतिक उपग्रह है । चांद को  जब  हम देखते है तो हमारे मन मे इसकी सुंदरता को लेकर बहुत से ख्याल  आते है। कुछ लोगो ने तो  चांद पर  शायरी लिखी है तो वही कुछ  लोग अपने दोस्तो  खुश  करने के लिये चांद तारे  तोड़ने के वादे करते है । 

हम लोग चंद के के लेकिन क्या ऐसा सच मे मुमकिन है? तो आपका जवाब ना ही होगा ,  लेकिन क्या आपको ये जानकारी है इंसान चांद पर अपने कदम रख चुका है ।  आप के से कुछ लोगो ने तो नील आर्मस्ट्रॉन्ग का नाम भी सुना होगा लेकिन क्या आपको ये जानकारी  है कि इन लोगो के अलावा भी 12 लोगो ने चांद पर कदम रख चुके है

आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में आपको यही बताने वाले  है कि अब  तक कितने लोगों में चांद पर कदम रख चुके है और चांद से ऐसे तथ्यों भी बतायेंगे जिन्हें आप भी जानकर हैरान हो जायेंगे। यही नहीं हम आपको धरती से चांद की दूरी के बारे में बतायेंगे  और चांद से जुड़े कुछ ऐसे सवालों के  बारे  का जवाब भी देंगे जो कि अधिकांश  हमारे दिमाग मे घूमते रहते है ।

Chand Pr Ab Tak Kul Kitne log Ja Chuke Hai

दोस्तो आपकी जानकारी के  लिये हम आपको बता दे कि चांद में अब  तक कुल 12 लोग जा चुके है जिनमे में से  सबसे पहले नील आर्मस्ट्रॉन्ग गये थे । उनके जाने बाद 11 लोग चांद  में अपने कदम रख चुके  है। हम आपको ये भी बतायेंगें की ये अपने मिशन में सफल हो  पाये थे या नहीं ये भी जानेंगे । उन 12 लोगो के नाम इस प्रकार से है:–

  1. Neil Armstrong (नील आर्मस्ट्रांग)
  2. Buzz Aldrin (बज्ज एल्ड्रिन)-
  3. Charles Conrad (चार्ल्स कौनराड)-
  4. Alan bean (एलन बीन)-
  5. Alan sheperd (एलन शेपर्ड)-
  6. Edgar mitchell (एडगर मिटचेल)-
  7. David Scott (डेविड स्कॉट)
  8. James irwin (जेम्स इरविन)-
  9. John young (जॉन यंग)-
  10. Charles duke (चार्ल्स डुके)-
  11. Harrison Schmitt (हैरिसन स्चमित्त) –
  12. Eugene Cernan (यूगेने सरनं)-

यह भी पढ़ें: इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम क्या है?

Chand Par Kon Kon Gaya Hai

1:– Armstrong(नील आर्मस्ट्रांग) –

चांद की जमीन पर कदम रखने वाले पहले इंसान नील आर्मस्ट्रॉन्ग थे । इनको  नासा के द्वारा निर्मित अपोलो 11 में इसका भेजा गया   था। अगर हम नील आर्मस्ट्रॉन्ग के  जीवन की बात करे तो नील आर्मस्ट्रॉन्ग का जन्म सन 1930 5 अगस्त को अमेरिका  में हुआ था । इनकी बचपन से ही अंतरिक्ष के विषय में काफी रुचि थी जिस कारण से  इन्होंने अंतरिक्ष के विषय मे।शिक्षा ग्रहण की और नासा में बतौर इंजीनियर के रूप मे काम करने लग गए।नासा ने इन्हें इनके चांद में जाने के 3 वर्ष बाद रिटायर कर दिया था ।

2:– Buzz Aldrin(बज्ज एल्ड्रिन)-  

चांद के धरती में   दूसरा कदम बज्ज एल्ड्रिन ने रखा था जो कि नील आर्मस्ट्रॉन्ग के साथ अपोलो 11 में उनके साथ गये थे। बज्ज एल्ड्रिन अमेरिका में जन्मे है और अभी भी अमेरिका के  कॉल रीडर इलाके  में रह रहे है । आपकी जानकारी के लिये बता दे कि बज्ज एल्ड्रिन अब रिटायर हो चुके है।

3:– Charles Conrad(चार्ल्स कौनराड)-

चलर्स कौनरोड  चांद में अपना कदम रखने वाले तीसरे व्यक्ति थे। चालर्स कौनरोड का जन्म 2 जून सन 1930 को  अमेरिका में हुआ था । चालर्स कौनरोड नासा के अपोलो 12 में गये थे , इस मिशन में  जाने से पूर्व चालर्स कौनरोड नासा  में इंजीनियर  के पद में थे । चालर्स  कौनरोड   ने अपोलो12 के मिशन से लौटने के बाद   नासा से रिटायर  हो  गये थे और उंन्होने खुद का व्यापार शुरु कर दिया । 69 साल की आयु  में इनका देहांत हो गया था।

4:– Alan bean (एलन बीन)-

एलन बीन चांद  में कदम रखने वाले चौथे व्यक्ति थे । एलन बीन मूल रूप से अमेरिका के रहने वाले  है । एलन बीन अमेरिका के नौसेना अधिकारी होने के साथ ऐरोनुतिकाल  इंजीनियर भी है ।  एलन बीन  अपोलो 12 में  चालर्स कौनरोड के साथ गये थे लेकिन इन्होने   चार्ल्स कौनरोड के  बाद चांद में कदम रखे थे।

5:– Alan sheperd (एलन शेपर्ड)-

एलन शेपर्ड  चांद में कदम रखने वाले पांचवे इंसान थे। एलन शेपर्ड  नासा में  एक इंजीनियर थे जिन्हें नासा ने अपोलो 14 में    चांद में भेजा  था। चांद से लौटने  के बाद एलन शेपर्ड ने नासा ने रिटायर्ड होकर  रियल इस्टेट के व्यापार पर आ गये  थे ।

यह भी पढ़ें: Razorpay क्या है?

6:– Edgar mitchell (एडगर मिटचेल)- 

एडगर मिटचेल चांद के जमीन पर अपने कदम रखने वाले  छठवें   इंसान थे। एडगर मिटचेल  एलन शेपर्ड   के साथ अपोलो 14 में गये थे जिसके बाद उस मिशन से लौटने पर एडगर मिटचेल ने रिटारमेंट लेकर मानसिक समस्याओ का  अध्ययन  करने  वाली संस्थान के सदस्य  बने।

7:– David Scott – 

चांद की धरती में कदम रखने सातवें व्यक्ति डेविड स्कोट बने थे । डेविड स्कोट  नासा में बतौर इंजीनियर के साथ पायलट प्रशिक्षण  भी थे। डेविड स्कोट अपोलो 15 के मिशन  थे लेकिन इससे पहले वो अपोलो 9 और जैमिनी 8  के  मिशन में जा चुके है।डेविड स्कोट पहले ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने 3  अंतरिक्ष यात्रा सफलतापूर्वक की थी। डेविड स्कोट ने सफलतापूर्वक  अपनी अंतरिक्ष के जीवन को पूरा करने के बाद रिटारमेंट ले लिया और एक प्रसिद्ध लेखक बन  गये।

8:– James irwin (जेम्स इरविन)-

जेम्स इरविन  चांद पर कदम रखने वाले आठवें व्यक्ति  थे। जेम्स इरविन एक पायलट थे और  अपोलो 15 में डेविड स्कोट के साथ गये थे।जेम्स  इरविन इस मिशन से वापस आने के बाद रिटारमेंट ले ली थी।

9:– John young (जॉन यंग)-

जॉन यंग  चांद  पर कदम रखने वाले नावें व्यक्ति थे। जॉन यांग अपोलो 16 मिशन एक कमांडर थे , इस मिसन में वो एक विमानक इंजीनियर , प्रशिक्षण के रूप में काम किया था। इस मिशन अलावा इन्होंने  जेमिनी  3, जेमिनी , अपोलो 10  STS -1, STS-9  में अंतरिक्ष यात्री  थे।

10:– Charles duke (चार्ल्स डुके)-

चलर्स डुके चांद पर कदम रखने वाले दशवे व्यक्ति थे । चार्ल्स डुके  जॉन यंग के साथ अपोलो 16 मिशन में  साथ मे गये थे। चार्ल्स डुके इस मिशन में जाने से पूर्व नासा में एक प्रक्षिक्षण पायलट के रूप में काम करते थे ।

11:– Harrison Schmitt (हैरिसन स्चमित्त) –

हैरिसन  स्चमित्त चांद पर कदम रखने वाले ग्यारह वें इंसान थे जिन्होंने चांद पर कदम रखा था। हैरिसन स्चमीट  मूल  रूप से अमेरिका का रहने वाले है  । हैरिसन स्चमित्त  अपोलो 17 के विमानक इंजीनियर , कमांडर और अंतरिक्ष यात्री थे ।

12:– Eugene Cernan (यूगेने सरनं)-

यूगेन सरनं 12 वें व्यक्ति थे जिन्होंने चांद पर अपने पैर रखे। यूगेन सरनं अपोलो 17 में   हैरिसन स्चमित्त के साथ गये थे , यूगेन सरनं स्वयं विमानक इंजीनियर , कमांडर और अंतरिक्ष यात्री है। इन मिशन के बाद इन्होंने रिटारमेंट ले लिया था।

यह भी पढ़ें: Gmail अकाउंट डिलीट कैसे करे

Chand Se Jude Kuch Rochak Tathye

चांद से जुड़ी कुछ ऐसी रोचक तथ्य जिनके बारे में आपको जानकारी नहीं है –

  • चांद अफ्रीका के क्षेत्रफल के बराबर है ।
  • चांद पूरी धरती के सिर्फ 27%  हिस्से के बराबर है।
  • चांद  हमे दिखता गोल है लेकिन असल मे वो अंडाकार है ।
  • चांद का कुल वजन 1 अरब टन है।
  • अगर चांद धरती से हट जाये तो धरती में एक दिन सिर्फ 6 घण्टे का होगा।

Chand Par Jane Me Kitna Samaye Lagta Hai

अगर राकेट की गति 4000 किलोमीटर  प्रति घंटे  है तो उससे 3 दिन लगेंगे ।

Chand Aur Prathvi Ke Bech Kitne Duri Hai

चंद और पृथ्वी से लगभग  384043 किलोमीटर की दूरी पर है।

Chand Pr Bina Oxygen Ke Kiten Der Tk Jevet Rhe Skte Hai

चांद पर करीब इतना ऑक्सीजन है कि वहां 800 करोड़ लोग 1 साल तक सांस ले सकते हैं ऐसा दावा नासा ने किया  है।

Kya Chand Pr Pine ka Pani Hai

नासा ने हाल है में दावा किया है कि चांद में पीने का पानी है लेकिन इसके कोई पुख्ता सबूत उससे मिले नही है।

यह भी पढ़ें: नेटवर्क मार्केटिंग क्या है?

Frequently AAsked Questions

प्रश्‍न 1 – चंद्रमा पर कितने अपोलो मिशन उतरे?

उत्तर – चंद्रमा में अब तक 6 अपोलो मिशन उतारे गये है।

प्रश्‍न 2 – चांद पर जाने वाले पहले भारतीय कौन थे?

उत्तर – चांद पर जाने वाले पहले भारतीय राकेश शर्मा थे।

प्रश्‍न 3 – चाँद पर जाने वाली पहली भारतीय महिला कौन थी?

उत्तर – अभी तक किसी भी महिला को ऐसा करने का अवसर प्राप्त नहीं  हुआ है लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि जेसिका मीर पहली महिला होंगी जो चांद पर कदम रखेगी ।

प्रश्न 4 – चंद्रमा पर जीवन संभव क्यों नहीं है?

उत्तर –  अभी तक कि जांच  में ऐसा कुछ भी नहीं  पाया गया है जिससे हमें ये जानकारी प्राप्त हो सके कि चंद  में जीवन है लेकिन  भविष्य में ऐसी आशा है  की चंद में जीवन मिल सकता है।

Leave a Comment