आपने ITI के बारे में तो सुना ही होगा और अगर नही सुना है तो आज का यह Article आपके लिए ही है। आज हम आपको बताने वाले है कि  ITI का Full Form क्या है।  इसके साथ ही आपको हम ITI से सम्बंधित पूरी Information आज के इस लेख में देंगे। 

अक्सर ही कई लोग ITI और IIT को एक समझने की भूल कर बैठते है। आपको बता दूं IIT का फुल फॉर्म और ITI का फुल फॉर्म एक नही होता बल्कि अलग -अलग होता है।जहाँ IIT ka full form, indian institute of technology होता है वहीँ दूसरी तरफ ITI का industrial training से जुड़ा हुआ है। 

ITI एक संस्थान होता है जहाँ पर Students को औधौगिक industries में काम करने योग्य बनाने के लिए उनका शिक्षण कार्य करवाया जाता है। ITI में students को theory में रूप में सिखाने के बजाय praticle रूप से सीखने पर focus किया जाता है।जिससे students industries में काम करने के लिए सुयोग्य बन सके और उन्हें परेशानी का सामना न करना पड़े। 

आईटीआई का पूरा नाम क्या है 

आज हम आपको बतायेँगे ITI की Full form क्या होती है। आईटीआई का पूरा नाम industrial Training institute (औधोगिक प्रशिक्षण संस्थान) होता है। हिंदी के अलावा ITI Full form in marathi ओर English languages में भी एक ही होगा  ITI में विभिन्न प्रकार के courses available होते है जिसकी सम्पूर्ण होने की अवधि लगभग एक वर्ष या दो वर्ष तक की होती है। आप इसमें अपनी पसंद की trades को select कर सकते है लेकिन हर course की अवधि का समय अलग अलग होता है। 

भिन्न -भिन्न trade के लिए समय अवधि अलग है।विद्यार्थी NCVT के अंतर्गत ITI या Diploma कर सकते है। अगर आप नही जानतें कि NCVT क्या है और NCVT का फुल फॉर्म क्या है तो आपको बतादे एनसीवीटी व्यवसायिक प्रशिक्षण संस्थान है जो बच्चों को व्यवसायी प्रशिक्षण देता है।

ITI में Admission लेने की Eligibility Criteria क्या है?

ITI में Admission लेने की क्या Eligibility criteria है यह आपको हम यहाँ बतायेँगे। तो चलिए देखते है ITI में admission के लिए आपको क्या क्या चाहिए-

ITI  full form क्या है?और कैसे करें?

●ITI Full form

ITI का Full form Industrial Training intitute (औधोगिक प्रशिक्षण संस्थान) होता है।

Eligibility

Candidate को ITI में Admission लेने के लिए किसी भी एक recognised Board से 10th standered में पास होना चाहिए। यदि आप  8th ,12th पास हो तब भी इसके लिए Eligible होंगे।

Candidate को High School या secondary में 45% तक marks से पास होना चाहिए।

Candidate को ITI में Admission लेने के लिए 14 वर्ष से 40 वर्ष तक का होना आवश्यक है।

Candidate को 35% अंकों से अधिक Aggregate secure करना आवश्यक है।

Candidate यदि विकलांग है या उसमे कोई भी disability है तो उसे छूट दी जाएगी।

ITI में Admission के लिए जरूरी  documents

अगर कोई भी candidate आईटीआई में Admission लेना चाहता है तो आज हम आपको बतायेँगे ITI में Admission कैसे ले सकते है –

  1. Candidate के पास 8th/10th standered की marksheet या 12th standered की marksheet होनी आवश्यक है।
  2. Candidate ने अगर Admission के लिए entrance exam दिया है तो candidate के पास Admit  Card भी होना आवश्यक है।
  3. Candidate के पास Result होना चाहिए या merit list होनी आवश्यक है।
  4. Candidate के पास Domicile certificate होना आवश्यक है।
  5. Candidate अगर आरक्षित वर्ग में आता है तो candidate के पास उसका category certificate होना आवश्यक है।
  6. Candidate के पास identity proof के लिए आधार card, voter ID कार्ड ,या Driving Licence में से कोई भी में identity  होना आवश्यक है।
  7.  Relevant Documents की intruction के अनुसार जरूरत होगी। 

ITI का फुल फॉर्म हिंदी में -Full Form of ITI in Hindi 

ITI  full form क्या है?और कैसे करें?

ITI का Full form Industrial Training Institute होता है। जिसे भारत के” श्रम नियोजन मंत्रालय”(Department of labour) द्वारा संचालित किया जाता है। यहाँ students को practical रूप से industrial work सिखाया जाता है। जिसकी वाकायदा पूरी ट्रेनिंग भी दी जाती है। ITI का Hindi में full form औधौगिक प्रशिक्षण संस्थान होता है। ITI में बच्चों को industry में काम करने के लिए तैयार किया है ताकि वे संस्थान से course खत्म करने के बाद सीधा industry में काम कर सके। 

आईटीआई कैसे करें? 

ITI  full form क्या है?और कैसे करें?

यह सवाल अक्सर बहुत से candidates पूंछते रहते है ITI full form क्या है, ITI की तैयारी वे किस प्रकार से करें। साथ ही वे आईटीआई और आईआईटी में भी Confuse हो जाते है। आज हम बतायेँगे कि आप ITI की तैयारी किस तरह से कर सकते है इसके पहले आपको यह जानना भी जरूरी है कि आप किस trade से ITI करने वाले है। आप जिस field में जाना चाहते है आप उसी Trade का चयन कर सकते है। जैसे Electronics ,mechanical आदि जैसी trades.

जैसे यदि आप Electrical maintenance की trade से ITI करना चाहते है तो आपको अपनी पसंद की ट्रेड के अनुसार ही Preparation करना होगा क्योकि आपको उसी ट्रेड से सम्बंधित प्रश्न आने आवश्यक हो जाते है। आप तैयारी करने के लिए Books खरीद कर ले सकते है और अपनी तैयारी कर सकते है।इसके साथ ही आप tution classes भी ले  सकते है।

महत्वपूर्ण बात यह है कि आपको ITI में Admision लेने के लिए entrance exam देना आवश्यक है। तभी आप ITI के किसी कॉलेज में Admission ले पाएंगे। हर साल जुलाई और अगस्त के महीने में यह entrance exam आयोजित किये जाते है। जहाँ अलग अलग स्टेट में बहुत से candidates अपनी पसंद की ट्रेड के लिए Entrance exam देते है। 

यह परीक्षा न ही ज्यादा कठिन होती है और न ही सरल।ज्यादा candidates के होने की वजह से आपको अधिक अंक लाने की आवश्यकता होती है। अन्य candidates के मुकाबले आपके अंक अधिक होना चाहिए तभी आप merit list में आ सकेंगे। जिसके अनुसार ही आपको college में Admission मिल पाता है। 

Entrancs exam होने के बाद ही आप College का चयन कर पाते है। आपको यह जानना जरूरी है कि आपकी merit लिस्ट ही यह निश्चित करेगी के आपको Govt.. college में admission मिलेगा या नहीं. यदि आपकी merit list में Rank बहुत कम है तो आपको Govt. कॉलेज में Admission मिलना सम्भव नहीं होगा। जिसकी वजह से आपको Private college से ITI करना पड़ सकता है। 

ITI करने में कितना खर्च होता है ?

ITI करने में ज्यादा रुपये खर्च नही होते है। वो भी तब होगा जब आप ITI GOVT college से करेंगें। लेकिन यदि आप ITI Govt. College से करना चाहते है तो आपको Entrance exam देना होगा। जी हाँ, यदि आप Govt. college में Admission लेने की सोच रहे है तो आपको इसके लिए ITI Entrance Exam देना अनिवार्य हो जाता है।

लेकिन यहाँ आपको Entarnace Exam में अच्छे marks लाना भी जरूरी हो जाता है। ITI में Admission के लिए हर साल entrance exam आयोजित किये जाते है जहाँ आपको Entrance exam में अच्छे marks से पास होना आवश्यक है। entrance exam में आपको लगभग 50 से अधिक अंक लाना आवश्यक ही हो जाता है। Entrance Exams के बाद कुछ दिनों बाद ही ITI की मैरिट लिस्ट को तैयार कर दिया जाता है जिसमे अधिक अंक लेन वाले candidates को Govt. college में दाखिला आसानी से मिल जाता है। इसके दूसरी ओर जिन candidates के marks अच्छे नही आ पाते है उन्हें Government कॉलेज नहीं मिल पाते है। 

Government कॉलेज में अगर आपका चयन हो जाता है तो आपको दाखिल मिल जाता है तो आपको फीस नही देनी पड़ती है और अगर देनी भी पड़ती है तो वह बहुत कम होती है। इसके बाबजूद आपको Govt. College में scholarship भी दी जाते है। Govt. college की मान्यता भी बहुत होती है जिससे आपको job भी जल्दी मिल सकती है।  

जिन candidates का selection Govt. Colleges में नहीं हो पाता है उन्हे तब Private colleges से ITI करना पड़ता है। private Institutes से ITI करने में लगभग 30 हजार से 40 हजार रुपये खर्च हो ही जाता है। 

ITI Course list 

ITI  full form क्या है?और कैसे करें?

ITI में उपलब्ध सभी Courses का अगर वर्गीकरण कर दिया जाए तो आपको दो प्रकार के course देखने के लिए मिलेंगे

  •  Engineering Course
  • Non- Engineering course 

ITI में लगभग 80+ से अधिक Engineering courses उपलब्ध होते है। जहाँ आपको engineering से सम्बंधित जानकारी सिखाई जाती है। आपको यहाँ Technical line में Engineering के लिए Courses होते है। अगर आप Technical line में जाना चाहते है तो आप Engineering course select कर सकते है। ITI के कुछ मुख्य Enginnering Course है जैसे Electronics ,deisel mechanics और fitter आदि। 

Engineering courses के अलावा ITI में आपको 50+ से अधिक Non- Engineering courses भी करने के लिए उपलब्ध है। Non Engineering courses में आपको Non Technial विषय  पर ही पढ़ाया और सिखाया जाता है। 

यहाँ हमने आपके लिए कुछ ITI courses की लिस्ट बनाई हुई है जिन्हें आप जान सकते है-

कोर्स 

  • 1. Fitter   2.Electronics, 3. Diesel mechanics
  • 4.Turner.  5.Plumber.   6.Wireman.  7.moulder
  • 8.machinist  9.Carpenter  10.Book Binder 
  • 11.Foundary.   12. Patternmaker    13. Painter General    14. Hair and skincare.     15. Advanced welding     16. Sheet metal worker.    17.Network Technician.  18. Electrical Maintenance.  19 Baker and confectioner.     20.Mason building Constructor.

….etc 

दिए गए विभिन्न Courses के अलावा अभी बहुत से courses बाकी है जो हमने इस लिस्ट में आपको नही बताये है।हमने यहाँ आपको सबसे अधिक चयन की जाने वाली ट्रेड्स ही बतायी है जिन्हें छोड़ अभी 100+ से अधिक कोर्स है।

ITI में क्या सिखाया जाता है?

ITI में Candidates को Theory तो सिखाई ही जाती है पर Technical रूप से प्रक्टिकल सीखने पर अधिक ध्यान दिया जाता है। यहाँ students को training Industry के लिए काम कर सकने के योग्य रूप से सिखाई जाती है।जिनमे उन्हें उनकी ट्रेड के अनुसार प्रक्टिकल करवाये जाते है। Practical रूप से सिखाने का फायदा यह भी होता है कि students को Industry में जाकर काम करना सीखना नहीं पड़ता है।

ITI में न केवल लड़को के लिए Courses available होते है बल्कि लड़कियां भी कई प्रकार के courses कर सकती हैं। ITI में लड़कियों के लिए Fashion designing, skin care और health care आदि जैसे courses उपलब्ध होते है। 

ITI करने के बाद job कैसे पायें?

बेरोजगारी के चलते आजकल सभी को Job की फिक्र होती ही है।ITI करने के बाद आप भी यही सोच रहे होंगे कि job कैसे पाये? लेकिन आपको बता दूँ कि ITI Holders की न केवल Government secter में मांग है वल्कि private secter में भी ITI वालो के लिए jobs मिल जाती है। पर सवाल यह है कि job कैसे ढूंढे?

ITI के बाद JOB ढूंढने के लिए आप Online और Offline दोनों ही तरह से तलाश कर सकते हैं। आजकल बहुत सी ऐसी sites और Apps है जो आपको जॉब के बारे में जानकारी उपलब्ध कराती रहती है। आप इन websites पर जाकर अपना account बनाये साथ ही आप यहाँ अपना resume भी डाल सकते है। इन sites पर resume डालने का फायदा यह कि ये आपको नई नई jobs के बारे में जानकारी देती रहती है। इसके साथ ही componies आपके resume से आपको direct select कर सकती है। 

आपको हमने कुछ ऐसे websites के नाम नीचे दिए है जिन पर आप अपना account बना सकते है।

Monster india (Monsterindia.com)

Times job. (Timesjob.com)

indeed      (Indeed.com)

Jooble.     (Jooble.org)

Naukri.       (Naukri.com)

Shine.        (Shinec.com)

ITI से sallery कितनी मिलती है?

ITI करने के बाद आपको कितनी सैलेरी मिलेगी और आपको कितने समय तक काम करना पड़ेगा? इसके बारे में हम यहाँ आज बतायेँगे।ITI करने के बाद आपको किसी भी industry में काम करने पर शुरुआत में 10 हजार से 15 हजार रुपये तक ही मिल पाते है(approx)। लेकिन आपकी यह सैलेरी  fix नहीं है आप जितने अधिक समय तक काम करते जाएंगे आपकी सैलेरी भी बढ़ती जाएंगी। इसके साथ ही आपको experience भी बढ़ता जाएगा। 

आपकी सैलरी आपकी ट्रेड पर भी निर्भर करती है। अलग – अलग ट्रेड के लिए सैलरी अलग हो सकती है। जो की आपके industy में काम करने के performance पर बढ़ती जाती है। आपकी सैलरी पर दूसरा effect आपकी जगह का भी हो सकता है,अलग- अलग शहरों या जगहों पर ITI holders को सैलरी बदलती रहती हैं। 

ITI का मुख्य उद्देश्य क्या है?

ITI का मुख्य उद्देश्य छात्रो को technicaly शिक्षित करने से है ताकि वे Industrial work करने में सक्षम हो सके। ITI में दिए जाने वाले Courses इस प्रकार से बनाये गए है जिनसे Students सही skill से और उचित ढंग से कार्य करना आ सकें। 

इसके लिए students को अपने course की पूरी duration में Practicaly training दी जाती है।

इस training की अवधि 6 माह से 2 वर्ष तक की होती है,जो कि बहुत अहम होती है। यह Training ITI students के लिए बहुत ही अहम है क्योंकि इस training के बाद ही  वे NCVT (National Counsil Of Vocational Training) के लिए योग्य हो सकते है। हमने आपको NCVT के बारे में पूर्व में ही बता दिया है। 

निष्कर्ष

आज के आर्टिकल ITI Full form क्या है में हमने आपको ITI के बारे में पूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है। जिसमे हमने आपको ITI क्या है के साथ ITI करने के लिए क्या क्या eligibility होनी चाहिए,कितनी योग्यता होना चाहिए बताया। इसके साथ ही हमने ITI  चयन प्रक्रिया भी बताई की कैसे आवेदन दे और entrance exam के बाद आपको क्या करना होगा। हमने आपको बताया ITI में कितने Courses होते है और ITI करने के बाद आप JOB कहाँ कर सकते हैं

Write A Comment