भारत का रेलवे सिस्टम वैसे तो प्रसिद्ध है ही, लेकिन अब भारतीय रेलवे ने एक और ऐसा कार्य किया है, जिससे ना सिर्फ भारत में बल्कि सारे विश्व में भारतीय रेलवे का नाम हो गया और इसने रेलवे का नया इतिहास भी बना दिया है। भारतीय रेलवे ने विश्व की सर्वप्रथम हॉस्पिटल ट्रेन बना ली है। जिसका नाम लाइफलाइन एक्सप्रेस रखा गया है।

रेल मंत्रालय के मुताबिक लाइफलाइन एक्सप्रेस ना सिर्फ भारत की बल्कि सारे विश्व की पहली हॉस्पिटल ट्रेन है। इस हॉस्पिटल ट्रेन को बनाने के पीछे रेलवे मंत्रालय का खास मकसद दूर-दराज तथा दुर्गम स्थानों पर मेडिकल सहायता उपलब्ध कराना है।

आपको बता दें कि यह हॉस्पिटल ट्रेन एक प्रकार से ट्रेन में बना हुआ सर्वप्रथम मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल है। इतना ही नहीं इस ट्रेन में रोगियों के इलाज हेतु सभी प्रकार की सुविधाएं भी दी गई हैं। इस ट्रेन में रोगियों के लिए फ्री इलाज की व्यवस्था रखी गई है और कई प्रकार की टेक्निकल फैसिलिटी भी इसमें उपलब्ध कराई गई है। ग्रामीण तथा दूर दराज के स्थानों पर जो लोग सुविधाएं ना होने की वजह से इलाज से वंचित रह जाते हैं उनके लिए उचित इलाज की व्यवस्था करवाना है।

भारतीय रेलवे का कमाल, बनाई दुनिया की पहली हॉस्पिटल ट्रेन

लाइफलाइन एक्सप्रेस की कई विशेषताएं हैं इसमें 2 आधुनिक प्रकार से बने ऑपरेशन थियेटर भी हैं। साथ ही इस ट्रेन में मेडिकल स्टाफ का कक्ष व पांच ऑपरेटिंग टेबल समेत सभी तरह की सुविधाएं हैं। असल में यह ट्रेन एक चलता फिरता हॉस्पिटल ही है। रेल मंत्रालय ने ट्विटर के द्वारा इस हॉस्पिटल ट्रेन की तस्वीरें शेयर की हैं। सूत्रों के अनुसार अभी यह ट्रेन असम के बदरपुर स्टेशन पर तैनात की गई है। इस ट्रेन में मुफ्त इलाज की सुविधा दी गई है, अतः जो गरीब लोग पैसों की दिक्कत की वजह से इलाज नहीं करवा पाते हैं उनके लिए यह हॉस्पिटल ट्रेन बहुत सहायक रहेगी।

लाइफलाइन एक्सप्रेस का निर्माण इम्पैक्ट इंडिया फाउंडेशन ने भारतीय रेलवे के साथ मिलकर किया है। इस ट्रेन में 7 डिब्बे लगे हैं। यह हॉस्पिटल ट्रेन भारत में विभिन्न स्थानों से होकर गुजरेगी और अपनी सुविधाएं प्रदान करेगी। चूंकि अभी कोरोना महामारी के संकट का समय चल रहा है अतः ऐसे समय में यह हॉस्पिटल ट्रेन अत्यधिक उपयोगी सिद्ध होगी।

Write A Comment